Monday, March 20, 2017

#15 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता - प्रचालन - बाह्य प्रदान प्रक्रियाओं, उत्पादों और सेवाओं का नियंत्रण


#15 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता

प्रचालन - बाह्य प्रदान प्रक्रियाओं, उत्पादों और सेवाओं का नियंत्रण

(8.4) बाह्य प्रदान प्रक्रियाओं, उत्पादों और सेवाओं का नियंत्रण


विचार करें - (1) (ग्राहक और वैधानिक) अपेक्षाएं पूरी करने की सक्षमता पर बाह्य प्रदान प्रक्रिया / उत्पाद / सेवा का संभावित प्रभाव, (2) बाहरी प्रदाताओं द्वारा लगाए नियंत्रणों का प्रभावीकरण.

निर्धारित करें - (1) बाह्य प्रदान प्रक्रिया / उत्पाद / सेवा पर लगाए जाने वाले नियंत्रण, (2) बाहरी प्रदाताओं के मूल्यांकन, चयन, निष्पादन निगरानी और पुनः मूल्यांकन के लिए मापदंड, (3) सत्यापन और अन्य गतिविधियाँ - यह सुनिश्चित करने के लिए कि बाहरी प्रदान प्रक्रिया / उत्पाद / सेवा अपेक्षाओं को पूरा करते हैं.

स्पष्टीकरण
बाहरी प्रदान प्रक्रिया / उत्पाद / सेवा पर नियंत्रण लागू होते हैं, जब (1) बाहरी प्रदाता से प्राप्त उत्पाद / सेवा को संस्था के अपने उत्पाद / सेवा में सम्मिलित कर लिया जाता है, (2) संस्था की ओर से बाहरी प्रदाता द्वारा सीधे ग्राहक को उत्पाद / सेवा प्रदान किया जाता है, (3) बाहरी प्रदाता द्वारा किसी प्रक्रिया या किसी प्रक्रिया का एक भाग प्रदान करना संस्था तय करती है.

सुनिश्चित करें - (1) बाह्य प्रदान प्रक्रिया / उत्पाद / सेवा अपेक्षाओं को पूरा करती है. (2) ग्राहक को पालना किए उत्पाद / सेवा लगातार प्रदान करने की संस्था की योग्यता बाहरी प्रदान उत्पाद / सेवा प्रतिकूल प्रभावित नहीं करते हैं. (3) बाह्य प्रदान प्रक्रिया / उत्पाद / सेवा संस्था के नियंत्रण में रहते हैं. (4) बाहरी प्रदाताओं को अपेक्षाओं की उपयुक्तता सम्प्रेषित की जाती है.

परिभाषित करें - बाहरी प्रदाताओं और संभावित परिणाम पर लगाए जाने वाले नियंत्रण.

पर्याप्त अपेक्षाएं बाहरी प्रदाता को सम्प्रेषित करें - (1) प्रक्रियाओं / उत्पादों / सेवाओं के लिए, (2) उत्पाद / सेवा अनुमोदन के लिए, (3) विधि / प्रक्रिया / यंत्र अनुमोदन के लिए, (4) उत्पाद और सेवा जारी करने के लिए, (5) आवश्यक सक्षमता (योग्यता सहित), (6) संस्था के साथ बाहरी प्रदाता का पारस्परिक विचार विमर्श, (7) लागू किए जाने वाले बाहरी प्रदाता के निष्पादन का नियंत्रण और निगरानी, (8) संस्था या ग्राहक द्वारा बाहरी प्रदाता के परिसर पर की जाने वाली सत्यापन और वैधीकरण गतिविधियाँ.

लागू करें - निर्धारित नियंत्रण, मापदंड और अन्य गतिविधियाँ

बाहरी प्रदाता की संपत्ति पर नियंत्रण करें - (1) जब संस्था के नियंत्रण में हो या उपयोग में लाई जा रही हो प्रदाता की संपत्ति (जैसे सामग्री, पुर्जे, औजार, उपकरण, परिसर, बौद्धिक सम्पदा और व्यक्तिगत आकड़ें) की उचित देखभाल करें. (2) उत्पाद / सेवा में सम्मिलित करने या उपयोग में लेने के लिए संपत्ति की पहचान करें, सत्यापित करें, रक्षा करें और उचित देखभाल करें. (3) यदि बाहरी प्रदाता की कोई संपत्ति खो जाती है, क्षति हो जाती है या फिर उपयोग के लिए अनुपयुक्त पाई जाती है तो उसकी जानकारी बाहरी प्रदाता को रिपोर्ट करें.

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करें - बाहरी प्रदाता का मूल्यांकन, चयन, निष्पादन की निगरानी और पुनर्मूल्यांकन और इन गतिविधियों से उत्पन्न कोई कार्रवाई.

- केशव राम सिंघल

आपको यह लेख कैसा लगा, कृपया अपनी टिप्पणी से अवगत कराएं. धन्यवाद.

आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता से संबंधित लेखों का उद्देश्य आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के सम्बन्ध में जागरूकता फैलाना है. इन लेखों को आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के एक विकल्प के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली कार्यान्वित करने के लिए आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक का उपयोग करना चाहिए, जिसे आप अंतरराष्ट्रीय मानक संस्था 'आईएसओ' से या उसके राष्ट्रीय सदस्य संस्था (भारत में 'भारतीय मानक ब्यूरो') से प्राप्त कर सकते हैं.

शब्दावली के लिए क्लिक करें.



Friday, March 10, 2017

#14 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता - प्रचालन - उत्पाद / सेवा का परिरुप और विकास


#14 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता

प्रचालन - उत्पाद / सेवा का परिरुप और विकास

(8.3) उत्पाद / सेवा का परिरुप और विकास


उत्पाद / सेवा का परिरुप और विकास एक महत्वपूर्ण गतिविधि है, जिसमें कई प्रक्रियाएं शामिल होती है ताकि किसी प्रयोजन/ईकाई/उत्पाद/सेवा के लिए जरूरतें और उम्मीदें और अधिक विस्तृत अपेक्षाओं में बदली जा सकें.

'परिरुप' और 'विकास' शब्द और 'परिरुप और विकास' पद कभी-कभी समानार्थक रूप से उपयोग में आते हैं.

(8.3.1) सामान्य

संस्थापित करें, कार्यान्वित करें और संपोषित करें - परिरुप और विकास प्रक्रिया (उत्पाद/सेवा अपेक्षाओं के उपयुक्त) जिसमें इसकी आयोजना, निवेश, नियंत्रण, निर्गत और परिवर्तन शामिल हो.

(8.3.2) परिरुप और विकास आयोजना

परिरुप और विकास प्रक्रिया के चरण और नियंत्रण निर्धारण के लिए विचार करें - (1) प्रक्रिया की प्रकृति, अवधि और जटिलताए, (2) अपेक्षित प्रक्रिया चरण, (3) लागू पुनरीक्षण, (4) अपेक्षित सत्यापन गतिविधियाँ, (5) अपेक्षित वैधीकरण गतिविधियाँ, (6) शामिल उत्तरदायित्व और प्राधिकार, (7) संसाधन (आतंरिक और बाहरी) आवश्यकताएं, (8) शामिल व्यक्तियों के बीच अंतरफलक नियंत्रण की आवश्यकताएं, (9) ग्राहक / उपयोगकर्ता को शामिल करने की आवश्यकता, (10) अनुवर्ती उत्पाद/सेवा अपेक्षाएं, (11) ग्राहकों / इच्छुक दलों द्वारा चाहे गए नियंत्रण का स्तर, (12) दस्तावेज जानकारी आवश्यकताए.

निर्धारित करें - (1) परिरुप और विकास प्रक्रिया के लिए चरण, (2) आवश्यक दस्तावेज जानकारी.

(8.3.3) परिरुप और विकास निवेश

विचार करें - (1) कार्यात्मक और निष्पादन अपेक्षाएं, (2) पूर्व समान परिरुप और विकास गतिविधियों से जानकारी, (3) वैधानिक अपेक्षाएँ, (4) पालन / कार्यान्वित करने वाले मानक, (5) पालन / कार्यान्वित करने वाले अभ्यास की संहिता, (6) असफलता के संभावित परिणाम.

निर्धारित करें - परिरूप और विकास किए जाने वाले उत्पाद / सेवा के लिए आवश्यक अपेक्षाएँ.

सुनिश्चित करें - (1) निवेश अपेक्षाएँ पर्याप्त, पूरी और स्पष्ट हों, (2) परस्पर विरोधी अपेक्षाओं क्ा समाधान.

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करें - परिरुप और विकास निवेश

(8.3.4) परिरुप और विकास नियंत्रण

लागू करें - परिरुप और विकास नियंत्रण.

सुनिश्चित करें - (1) प्राप्त किए जाने वाले परिणामों को परिभाषित करना, (2) अपेक्षाएँ पूरी करने के लिए परिरुप और विकास की सक्षमता का मूल्यांकन करने के लिए पुनरीक्षण आयोजित करना, (3) सत्यापन गतिविधियाँ आयोजित करना यह सत्यापित करने के लिए कि परिरुप और विकास निर्गत परिरुप और विकास निवेश अपेक्षाओं को पूरा कर रहे हैं, (4) वैधीकरन गतिविधियाँ आयोजित करना यह सुनिश्चित करने के लिए कि परिनामित उत्मपद / सेवा निर्दिष्ट उपयोग / चाहे उपयोग के लिए अपेक्षाओं को पूरा करते हैं,(5) परिरुप और विकास नियंत्रण (पुनरीक्षण/सत्यापन/वैधीकरण) गतिविधियों के दौरान समस्याओं पर आवश्यक कार्रवाइयाँ करना.

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करें - परिरुप और विकास नियंत्रण गतिविधियाँ.

(8.3.5) - परिरुप और विकास निर्गत

सुनिश्चित करें - परिरूप और विकास निर्गत - (1) निवेश अपेक्षाओं को पूरा करते हैं, (2) अनुवर्ती गतिविधियों के लिए पर्याप्त हैं, (3) उपयुक्त निगरानी और मापन अपेक्षाओं को शामिल / वर्णित करते है, (4) स्वीकृति मापदंडों को शामिल / वर्णित करते है, (5) उत्पाद / सेवा विशेषताओं (चाहे उद्देश्य, सुरक्षित और उचित व्यवस्था के लिए जरुरी) को वर्णित करते हों.

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करें - परिरुप और विकास निर्गत.

(8.3.6) परिरुप और विकास परिवर्तन

पहचान करें, पुनरीक्षण करें और नियंत्रित करें - परिरुप और विकास परिवर्तन (उद्देश्य - यह सुनिश्चित करने के लिए कि उत्पाद / सेवा पर कोई प्रतिकूल प्रभाव ना पड़े.

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करें - परिरुप और विकास परिवर्तन, पुनरीक्षण के परिणाम, परिवर्तनों की प्राधिकृति और की गयी कार्रवाई.

- केशव राम सिंघल

आपको यह लेख कैसा लगा, कृपया अपनी टिप्पणी से अवगत कराएं. धन्यवाद.

आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता से संबंधित लेखों का उद्देश्य आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के सम्बन्ध में जागरूकता फैलाना है. इन लेखों को आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के एक विकल्प के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली कार्यान्वित करने के लिए आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक का उपयोग करना चाहिए, जिसे आप अंतरराष्ट्रीय मानक संस्था 'आईएसओ' से या उसके राष्ट्रीय सदस्य संस्था (भारत में 'भारतीय मानक ब्यूरो') से प्राप्त कर सकते हैं.

शब्दावली के लिए क्लिक करें.






Monday, March 6, 2017

#13 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता - प्रचालन - (1) प्रचालन आयोजना और नियंत्रण (2) उत्पादों और सेवाओं के लिए अपेक्षाएं


#13 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता

प्रचालन


प्रचालन अपने लक्ष्यों को पाने के लिए संस्था के कामकाज (कार्यपद्धति) की कार्रवाई है.

(8.1) प्रचालन आयोजना और नियंत्रण

आयोजना करें, कार्यान्वित करें और नियंत्रित करें - प्रक्रियाएं (कृपया मानक के खंड 4 का सन्दर्भ लें).

कार्यान्वित करें - आयोजना में निर्धारित कार्रवाईयाँ (कृपया मानक के खंड 6 का सन्दर्भ लें). निम्न किया जाना जरूरी है -

निर्धारित करें - (1) उत्पाद / सेवाओं के लिए अपेक्षाएं, (2) संसाधन आवश्यकताएं, (3) आवश्यकतानुसार संपोषित और प्रतिधारित करने के लिये दस्तावेज जानकारी

संस्थापित करें - (1) प्रक्रियाओं के लिए मापदंड, (2) उत्पादों / सेवाओं की स्वीकृति के लिए मापदंड.

कार्यान्वित करें - संस्थापित मापदंड के अनुसार नियंत्रण.

नियंत्रित करें - (1) आयोजना किए अनुसार परिवर्तन, (2) बाह्य प्रक्रियाएं.

पुनरीक्षण करें - अनपेक्षित परिवर्तनों के परिणाम

आवश्यक कार्रवाई करें - किसी भी प्रतिकूल प्रभाव को कम करने के लिए

दस्तावेज जानकारी संपोषित करें - जैसा ऊपर वर्णित निर्धारित किया गया.

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करें - जैसा ऊपर वर्णित निर्धारित किया गया.

(8.2) उत्पादों और सेवाओं के लिए अपेक्षाएं

ग्राहक के साथ संप्रेषित करें - (1) उत्पाद/सेवा के बारे में जानकारी दें, (2) पूछताछ संभालें, (3) अनुबंधों / आदेशो के बारे में, (4) परिवर्तनों के बारे में, (5) ग्राहक पुनर्निवेश / ग्राहक शिकायतें लें, (6) ग्राहक की संपत्ति संभालने/नियंत्रित करने के बारे में, (7) जब प्रासंगिक हो, विशेष आकस्मिक कार्रवाई अपेक्षाएं संस्थापित करने के लिए.

सुनिश्चित करें - (1) उत्पाद / सेवा अपेक्षाएं (वैधानिक और अन्य जो जरूरी हों) परिभाषित करना, (2) उत्पाद / सेवा अपेक्षाओं को पूरा करने की संस्था की क्षमता.

पुनरीक्षण करें (ग्राहक को उत्पाद / सेवा आपूर्ति करने की प्रतिबद्धता से पहले) - (1) ग्राहक अपेक्षाएं, (2) वितरण के लिए अपेक्षाएं, (3) वितरण बाद गतिविधियों के लिए अपेक्षाएं, (4) ग्राहक द्वारा ना कही अपेक्षाएं, पर निर्दिष्ट / वांछित उपयोग के लिए जरूरी हों, जब मालूम हों, (5) संस्था द्वारा वर्णित अपेक्षाएं, (6) लागू वैधानिक अपेक्षाएं, (7) बदली गयी अनुबंध / आदेश अपेक्षाएं.

समाधान करें - बदली गयी अनुबंध / आदेश अपेक्षाएं.

सुनिश्चित करें - (1) प्रासंगिक दस्तावेज जानकारी में बदली अपेक्षाओं का संशोधन, (2) प्रासंगिक व्यक्तियों को बदली गयी अपेक्षाओं की जानकारी देना, (3) अपेक्षाओं को पूरा करने की संस्था की क्षमता.

स्वीकृति से पहले पुष्टि करें - ग्राहक अपेक्षाएं, यदि ग्राहक लिखित अपेक्षाएं नहीं प्रदान करता है.

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करें - (1) पुनरीक्षण परिणाम, (2) उत्पाद / सेवा के लिए नई अपेक्षाएँ.

स्पष्टीकरण
जब प्रत्येक आदेश के लिए औपचारिक पुनरीक्षण अव्यवहारिक हो, उदाहरण के लिए ऑनलाइन बिक्री, तब उत्पाद जानकारी / सूची ही पुनरीक्षण होगी.

- केशव राम सिंघल

आपको यह लेख कैसा लगा, कृपया अपनी टिप्पणी से अवगत कराएं. धन्यवाद.

आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता से संबंधित लेखों का उद्देश्य आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के सम्बन्ध में जागरूकता फैलाना है. इन लेखों को आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के एक विकल्प के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली कार्यान्वित करने के लिए आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक का उपयोग करना चाहिए, जिसे आप अंतरराष्ट्रीय मानक संस्था 'आईएसओ' से या उसके राष्ट्रीय सदस्य संस्था (भारत में 'भारतीय मानक ब्यूरो') से प्राप्त कर सकते हैं.

शब्दावली के लिए क्लिक करें.






Saturday, March 4, 2017

#12 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता - संबल (Support) - दस्तावेज जानकारी (Documented information)


#12 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता

संबल - दस्तावेज जानकारी


दस्तावेज जानकारी किसी बारे में सार्थक आंकड़े और तथ्य होते हैं, जो किसी भी माध्यम और प्रारूप में और किसी भी स्रोत से हो सकते हैं.

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करना (अर्थात अभिलेख रखना) अनुपालना के साक्ष्य का एक प्रमाण होता है.

आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के कुछ खण्डों में यह अपेक्षा है कि दस्तावेज जानकारी संपोषित की जाएं (रखी जाएं) या प्रतिधारित की जाएं. दस्तावेज जानकारी - (1) आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक द्वारा चाहे, और (2) संस्था द्वारा निर्धारित किए होने चाहिये.

दस्तावेज जानकारी संपोषित करना = प्रलेखित दस्तावेज (जैसे प्रलेखित कार्यविधि, दिशा-निर्देश आदि) रखना.
दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करना = अभिलेख रखना, जो पालना या किए जाने का साक्ष्य प्रदान करता हो.

पता लगाएं - (1) आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक द्वारा कौन से दस्तावेज जानकारी चाहे गए हैं, और (2) संस्था द्वारा कौन से दस्तावेज जानकारी संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए निर्धारित किए गए हैं.

सर्जन करें और अद्यतन करें - उचित रूप से सुनिश्चित करें - उपयुक्तता और पर्याप्तता के लिए (1) पहचान, (2) विवरण, (3) प्रारूप, (4) माध्यम, और (5) पुनरीक्षण और अनुमोदन.

दस्तावेज जानकारी नियंत्रित करें - (1)उपयोग के लिए उपलब्धता, उपयुक्तता, पर्याप्त रूप से संरक्षित (पर्याप्त रूप से गोपनीय रखने के लिए, सही उपयोग के लिए, ठीक और सही) रखना सुनिश्चित करें, (2) संबोधित करें, जैसा लागू हो - वितरण, पहुँच (देखने के लिए अनुमति, या देखने और परिवर्तन करने के लिए अनुमति और अधिकार), पुनः प्रापणीय, उपयोग, भंडारण, संरक्षण, स्पष्टता का संरक्षण, संस्करण (परिवर्तन) नियंत्रण, (3) पहचाने, निर्धारित करें और नियंत्रित करें - बाहरी स्रोत दस्तावेज जानकारी, (4) अनुपालना के साक्ष्य के रूप में दस्तावेज जानकारी संरक्षित करें.

स्पष्टीकरण
एक संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए चाहे गए दस्तावेज जानकारियाँ दूसरी संस्था से आकार, प्रकार, संस्था के उत्पाद/सेवाओं, प्रक्रियाओं, प्रक्रियाओं की जटिलताओं, प्रक्रियाओं की परस्पर क्रिया, व्यक्तियों की सक्षमता के कारण भिन्न हो सकते हैं.

- केशव राम सिंघल

आपको यह लेख कैसा लगा, कृपया अपनी टिप्पणी से अवगत कराएं. धन्यवाद.

आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता से संबंधित लेखों का उद्देश्य आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के सम्बन्ध में जागरूकता फैलाना है. इन लेखों को आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के एक विकल्प के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली कार्यान्वित करने के लिए आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक का उपयोग करना चाहिए, जिसे आप अंतरराष्ट्रीय मानक संस्था 'आईएसओ' से या उसके राष्ट्रीय सदस्य संस्था (भारत में 'भारतीय मानक ब्यूरो') से प्राप्त कर सकते हैं.

शब्दावली के लिए क्लिक करें.


Friday, March 3, 2017

#11 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता - संबल - सक्षमता, जागरूकता और सम्प्रेषण


#11 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता

संबल - सक्षमता, जागरूकता और सम्प्रेषण

(7.2) सक्षमता


सक्षमता सफलतापूर्वक और कुशलतापूर्वक कुछ करने की योग्यता है. चाहे गए परिणामों को पाने के लिए यह ज्ञान (उपलब्ध जानकारियों, सार्थक आंकड़ों के उपलब्ध संग्रह) और कौशल को लागू करने की योग्यता है.

निर्धारित करें - गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली से सम्बंधित कार्य करने के लिए व्यक्तियों की आवश्यक सक्षमता.

सुनिश्चित करें - व्यक्ति सक्षम है (उपयुक्त शिक्षा/प्रशिक्षण/अनुभव के आधार पर)

कार्रवाई करें - आवश्यक सक्षमता पाने के लिए, जहां जरूरी हो.

मूल्यांकन करें - की गयी कार्रवाईयों के प्रभावशीलता.

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करें - सक्षमता साक्ष्य.

स्पष्टीकरण

संस्था में सक्षमता बढ़ाने के लिए निम्न कार्रवाईयाँ की जा सकती हैं - (1) व्यक्तियों को प्रशिक्षण प्रदान करना, (2) व्यक्तियों को सलाह (दिशा निर्देश / प्रशिक्षण), (3) व्यक्तियों को पुनः कार्य-निर्धारण कर सौपना, (4) दक्ष व्यक्तियों को भाड़े / अनुबंध पर रखना.

(7.3) जागरूकता

जागरूकता वह ज्ञान है जो विषय वस्तु को समझने के लिए उपलब्ध रहता है.

सुनिश्चित करे - व्यक्ति निम्न जानते और समझते हैं - (1) गुणवत्ता नीति, (2) गुणवत्ता लक्ष्य, (3) गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रभावीकरण के लिए व्यक्तियों का योगदान, (4) उन्नत निष्पादन के लाभ, (5) गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली अपेक्षाओं की पालना न होने के आशय.

(7.4) सम्प्रेषण

सम्प्रेषण बोलने, लिखने या किसी अन्य माध्यम के प्रयोग द्वारा सूचनाएं (जानकारियाँ) देना या आदान-प्रदान करना है.

निर्धारित करें - आंतरिक और बाहरी संप्रेषण - (1) विषयवस्तु - क्या संप्रेषित करना है? (2) समय - कब सम्प्रेषित करना है? (3) किसे - व्यक्ति/संस्था/दल किसे सम्प्रेषित करना है? (4) कैसे - किस विधि/तरीके से सम्प्रेषित करना है, (5) कौन - कौन व्यक्ति/अधिकारी सम्प्रेषित करेगा?

- केशव राम सिंघल

आपको यह लेख कैसा लगा, कृपया अपनी टिप्पणी से अवगत कराएं. धन्यवाद.

आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता से संबंधित लेखों का उद्देश्य आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के सम्बन्ध में जागरूकता फैलाना है. इन लेखों को आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के एक विकल्प के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली कार्यान्वित करने के लिए आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक का उपयोग करना चाहिए, जिसे आप अंतरराष्ट्रीय मानक संस्था 'आईएसओ' से या उसके राष्ट्रीय सदस्य संस्था (भारत में 'भारतीय मानक ब्यूरो') से प्राप्त कर सकते हैं.

शब्दावली के लिए क्लिक

Wednesday, March 1, 2017

#10 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता - संबल (Support) - संसाधन


#10 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता

संबल (Support) - संसाधन

(7.1) संसाधनों (Resources)


संसाधन = एक भण्डार या धन, सामग्रियों, स्टाफ, और अन्य परिसंपत्तियों की आपूर्ति, जो किसी एक व्यक्ति या संस्था से लिए जा सकते हैं ताकि कार्य प्रभावी रूप से हो सके.

आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में संसाधन से तात्पर्य व्यक्तियों (लोग), बुनियादी ढाँचे, वातावरण, निगरानी और मापन संसाधनों और संगठनात्मक ज्ञान से है, जो संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के प्रभावी कार्यान्वयन, संस्था की प्रक्रियाओं के संचालन और नियंत्रण के लिए आवश्यक हैं, ताकि उत्पाद/सेवा अनुपालना प्राप्त हो सके.

विचार करें - (1) मौजूदा आतंरिक संसाधनों की क्षमता, (2) मौजूदा आतंरिक संसाधनों पर बाधाएं, (3) बाहरी प्रदाताओं से क्या लिया जाएगा.

निर्धारित करें - गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के संस्थापन, कार्यान्वयन, संपोषण और लगातार सुधार के लिए आवश्यक संसाधनों (लोग, बुनियादी ढांचा, वातावरण, निगरानी और मापन संसाधनों और ज्ञान) को.

प्रदान करे (मुहैया करवाएं) - निर्धारित संसाधनों (लोग, बुनियादी ढांचा, वातावरण, निगरानी और मापन संसाधनों और ज्ञान) को.

पहचान और बचाव (सुरक्षा) करें - निगरानी और मापन संसाधनों का.

सुनिश्चित करें - निगरानी और मापन संसाधनों की उपयुक्तता.

संपोषित करें (बनाए रखें) - (1) बुनियादी ढांचा, (2) प्रक्रियाओं के संचालन के लिए वातावरण, (3) निगरानी और मापन संसाधनों की जारी (लगातार) उपयुक्तता.

अंशशोधन / सत्यापन करें - उल्लेखित अंतरालों या उपयोग से पहले मापन मानकों के सामने (तब लागू जब मापनीय अनुमार्गणीयता अपेक्षा हो या संस्था इसे जरूरी मानती हो).


मापनीय अनुमार्गणीयता = measurement traceability

निर्धारित करें (उस समय जब मापनीय यंत्र अनुपयुक्त पाए जाएं) - क्या पिछले माप परिणामों की वैधता पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा?

उपयुक्त कार्रवाई करें - यदि पिछले माप परिणामों की वैधता पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा.

संपोषित करें और उपलब्ध कराएं - निर्धारित ज्ञान.

जब आवश्यकताएं और प्रवृतियां बदल रही हो को संबोधित करते समय - (1) मौजूदा ज्ञान पर विचार करें, (2) आवश्यक अतिरिक्त ज्ञान और नवीनतम जानकारियों को प्राप्त करने के तरीकों को निर्धारित करें

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करें - (1) निगरानी और मापन संसाधनों की उपयुक्तता, (2) अंशशोधन / सत्यापन करने का आधार जब कोई मापनीय मानक उपलब्ध नहीं हो.

स्पष्टीकरण
(1) बुनियादी ढांचा भूमि, भवन, सम्बंधित उपयोगिताएं (जैसे बिजली, जलापूर्ति), यंत्र, मशीनरी, हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, परिवहन संसाधन, सूचनाएं, सम्प्रेषण तकनीक आदि हो सकते हैं.
(2) प्रक्रियाओं के संचालन के लिए उपयुक्त वातावरण मानवीय और भौतिक कारकों का गठजोड़ हो सकता है. मानवीय कारक सामाजिक (जैसे गैर-भेदभावपूर्ण, अर्थात लोगों में अनुचित या प्रतिकूल भेद नहीं करना, शांत, अविवादित जो स्थितियों के साथ शान्तिपूर्वक और कूटनीति से निपटे, आक्रामक या प्रतिरोधी नहीं हो) और भौतिक (जैसे तापमान, गर्मी, आद्रता, रोशनी, वायु प्रवाह, स्वच्छता, शोर आदि) हो सकते हैं.
(3) निगरानी और मापनीय संसाधन की जरुरत वैध और विश्वसनीय परिणामों को सुनिश्चित करने के लिए होती है, जब अपेक्षाओं से उत्पाद/सेवा अनुपालना सत्यापित करने के लिए निगरानी और मापन उपयोग में लिया जाता है.
(4) संगठनात्मक (संस्थागत) ज्ञान संस्था से सम्बंधित विशिष्ट ज्ञान है, जो संस्था में व्यक्तियों के अनुभवों से प्राप्त किया जाता है. संगठनात्मक (संस्थागत) ज्ञान वह सूचना है, जिसे संस्था के लक्ष्यों को पाने के लिए संस्था में उपयोग में लिया जाता है. और एक-दूसरे के बीच साझा किया जाता है.
(5) संगठनात्मक (संस्थागत) ज्ञान आतंरिक स्रोतों और बाहरी स्रोतों पर आधारित हो सकते हैं.
(6) संगठनात्मक (संस्थागत) ज्ञान की आतंरिक स्रोत बौद्धिक सम्पदा (जैसे प्रतिलिप्याधिकार, पेटेंट, डिजाईन आदि), अनुभव से प्राप्त ज्ञान, किसी प्रोजेक्ट की सफलता/असफलता से सीखे पाठ, मौखिक ज्ञान और अनुभव पाना और साझा करना, प्रक्रिया/उत्पाद/सेवा में सुधार परिणाम हो सकते हैं.
(7) संगठनात्मक (संस्थागत) ज्ञान के बाहरी स्रोत मानक, पुस्तकें, प्रकाशन, शिक्षा सम्मलेन, ग्राहक/बाहरी प्रदाता से ज्ञान लेना आदि हो सकते हैं.

- केशव राम सिंघल

आपको यह लेख कैसा लगा, कृपया अपनी टिप्पणी से अवगत कराएं. धन्यवाद.

आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता से संबंधित लेखों का उद्देश्य आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के सम्बन्ध में जागरूकता फैलाना है. इन लेखों को आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के एक विकल्प के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली कार्यान्वित करने के लिए आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक का उपयोग करना चाहिए, जिसे आप अंतरराष्ट्रीय मानक संस्था 'आईएसओ' से या उसके राष्ट्रीय सदस्य संस्था (भारत में 'भारतीय मानक ब्यूरो') से प्राप्त कर सकते हैं.

शब्दावली के लिए क्लिक करें.