Thursday, February 16, 2017

#06 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली - संस्था के प्रसंग


#06 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता

संस्था के प्रसंग


(4.1) संस्था और उसके प्रसंग की समझ

निर्धारित करें - आंतरिक और बाहरी मुद्दे (सकारात्मक और नकारात्मक कारक या शर्तें) जो संस्था के उद्देश्य, सामरिक दिशा के प्रासंगिक हो तथा जो इच्छित परिणामों को प्राप्त करने की संगठनात्मक क्षमता को प्रभावित कर सकते हों.

निगरानी और पुनरीक्षण करें - निर्धारित आंतरिक और बाहरी मुद्दों (सकारात्मक और नकारात्मक कारक या शर्तों) के बारे में जानकारी.

स्पष्टीकरण
(1) ऐसे बहुत से मुद्दे हैं जो संस्था के बाहरी प्रसंग की समझ को आसान कर सकते हैं. ऐसे मुद्दे वैधानिक, तकनीकी, स्पर्धात्मक, सांस्कृतिक, सामाजिक और आर्थिक वातावरण से उत्पन्न हो सकते हैं और ये वैश्विक, राष्ट्रीय, क्षेत्रीय या स्थानीय हो सकते हैं.
(2) ऐसे बहुत से मुद्दे हैं जो संस्था के आंतरिक प्रसंग की समझ को आसान कर सकते हैं. ऐसे मुद्दे संस्था की मूल्य, संस्कृति, ज्ञान और निष्पादन से संबंधित हो सकते हैं.

(4.2) इच्छुक दलों की जरूरतों और अपेक्षाओं की समझ

निर्धारित करें - (1) संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के प्रासंगिक इच्छुक दल. (2) निर्धारित इच्छुक दलों की अपेक्षाएँ जो संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के प्रासंगिक हों.

निगरानी और पुनरीक्षण करें - निर्धारित इच्छुक दलों और निर्धारित उनकी अपेक्षाओं के बारे में जानकारी

स्पष्टीकरण
(1) इच्छुक दल = व्यक्ति या संस्था जो किसी निर्णय या गतिविधि को प्रभावित कर सकती है, से प्रभावित हो सकती है, या अपने को प्रभावित किया जा सकने के लिए देखती है.
(2) इच्छुक दलों के उदाहरण - ग्राहक, मालिक, कर्मचारी, अनुबंध पर कामगार, ठेकेदार, प्रदाता, बैंकर्स, युनियंस, साझेदार, समाज, प्रतियोगी, विपरीत दवाब समूह आदि.
(3) इच्छुक दलों की जरूरतों और अपेक्षाओं को समझने की अपेक्षा क्यों है? क्योंकि इच्छुक दलों की जरूरतें और अपेक्षाएँ ग्राहक और लागू वैधानिक अपेक्षाओं को पूरा करने वाले उत्पाद या सेवा को लगातार प्रदान करने की संस्था क्षमता पर अपना प्रभाव डाल सकती हैं.

(4.3) गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यक्षेत्र का निर्धारण

विचार करें - (1) 4.1 की अपेक्षा के अनुसार निर्धारित बाहरी और आंतरिक मुद्दे (2) 4.2 की अपेक्षा के अनुसार निर्धारित इच्छुक दलों की अपेक्षाएँ, (3) संस्था के उत्पाद और सेवाएँ

निर्धारित करें - (1) उपर्युक्त का विचार करते हुए गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सीमाओं और प्रयोज्यता और यह प्रक्रिया गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली का कार्यक्षेत्र संस्थापित करेगी. (2) यदि आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक की कोई अपेक्षा संस्था की गुणवता प्रबंध प्रणाली के लिए लागू नहीं होती है, तो औचित्य प्रदान करें.

लागू करें - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक की सभी अपेक्षाएँ, यदि वे संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के निर्धारित कार्यक्षेत्र के अंतर्गत लागू होती हैं. यदि आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक की कोई अपेक्षा संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के निर्धारित कार्यक्षेत्र के अंतर्गत लागू नहीं होती है, तो उसका औचित्य प्रदान करने की जरूरत है.

दस्तावेज जानकारी संपोषित करें (बनाएँ रखें) - संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली का कार्यक्षेत्र, जिसमें उत्पादों और सेवाओं के प्रकार और यदि आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक की कोई अपेक्षा संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के निर्धारित कार्यक्षेत्र के अंतर्गत लागू नहीं होती है, तो उसका औचित्य शामिल हो.

उपलब्ध कराएँ - दस्तावेज जानकारी जो संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली का निर्धारित कार्यक्षेत्र इंगित करता हो.

महत्वपूर्ण बिन्दु - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक से अनुपालना का दावा तभी किया जाना चाहिए, जब मानक की ऐसी निर्धारित अपेक्षाएँ (जो संस्था में लागू नहीं की जा रही हैं) से संस्था के उत्पाद और सेवाओं की अनुरूपता सुनिश्चित करने और ग्राहक संतुष्टि बढ़ाने के लिए संस्था की योग्यता और उत्तरदायित्व पर कोई प्रभाव नही पड़ता हो.

स्पष्टीकरण -
संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में मानक अपेक्षाओं को लागू किए जाने के सन्दर्भ में आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में 'वर्जन' पद का उपयोग नहीं किया गया है. यह संस्था के लिए है कि निम्न कारणों की वजह से संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में मानक की अपेक्षाओं की प्रयोज्यता का पुनरीक्षण करे - (1) संस्था का आकार, (2) संस्था की जटिलता, (3) संस्था द्वारा स्वीकार किया प्रबंधन मॉडल, (4) संस्था की गतिविधियों की श्रेणी, और (5) संस्था द्वारा सामना के जा रही जोखिम और अवसरों की प्रकृति. हालांकि यह नोट करें कि आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक से अनुपालना का दावा तभी किया जाना चाहिए, जब मानक की ऐसी निर्धारित अपेक्षाएँ (जो संस्था में लागू नहीं की जा रही हैं) से संस्था के उत्पाद और सेवाओं की अनुरूपता सुनिश्चित करने और ग्राहक संतुष्टि बढ़ाने के लिए संस्था की योग्यता और उत्तरदायित्व पर कोई प्रभाव नही पड़ता हो.

(4.4) गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली और इसकी प्रक्रियाएँ

संस्थापित, कार्यान्वित, संपोषित और लगातार सुधार करें - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक की अपेक्षाओं के अनुसार आवश्यक प्रक्रियाएँ और उनके बीच परस्पर क्रियाओं सहित संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली.

निर्धारित करें - (1) गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए जरुरी प्रक्रियाएँ और संस्था में उनकी प्रयोज्यता, (2) निर्धारित प्रक्रियाओं से जरुरी निवेश और अपेक्षित निर्गत, (3) निर्धारित प्रक्रियाओं का अनुक्रम और अन्योन्यक्रिया, (4) निर्धारित प्रक्रियाओं के प्रभावी संचालन और नियंत्रण के लिए मानदंड और विधियाँ, साथ ही निगरानी, मापन और संबंधित निष्पादन संकेतक, (5) निर्धारित प्रक्रियाओं के लिए जरुरी संसाधन.

सुनिश्चित करें - जरुरी निर्धारित संसाधनों की उपलब्धता.

निर्दिष्ट करें - निर्धारित प्रक्रियाओं के लिए उत्तरदायित्व और प्राधिकार.

लागू करें - निर्धारित प्रक्रियाओं के प्रभावी संचालन और नियंत्रण के लिए मानदंड और विधियाँ, साथ ही निगरानी, मापन और संबंधित निष्पादन संकेतक.

संबोधित करें - जोखिम और अवसर (जैसा 6.1 में निर्धारित किए गए)

मूल्यांकन करें - निर्धारित प्रक्रियाएँ (इच्छित परिणामों को सुनिश्चित करने के लिए)

कार्यान्वित करें - कोई जरूरी परिवर्तन (इच्छित परिणामों को सुनिश्चित करने के लिए)

सुधार करें - (1) निर्धारित प्रक्रियाएँ, (2) गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली

दस्तावेज जानकारी संपोषित करें - जो संस्था प्रक्रियाओं के संचालन को सहारा देते हों

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करें - जो यह आत्मविश्वास प्रदान करे कि प्रक्रियाएँ आयोजना के अनुसार संचालित हो रही हैं.

- केशव राम सिंघल

आपको यह लेख कैसा लगा, कृपया अपनी टिप्पणी से अवगत कराएं. धन्यवाद.

आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता से संबंधित लेखों का उद्देश्य आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के सम्बन्ध में जागरूकता फैलाना है. इन लेखों को आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के एक विकल्प के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली कार्यान्वित करने के लिए आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक का उपयोग करना चाहिए, जिसे आप अंतरराष्ट्रीय मानक संस्था 'आईएसओ' से या उसके राष्ट्रीय सदस्य संस्था (भारत में 'भारतीय मानक ब्यूरो') से प्राप्त कर सकते हैं.

शब्दावली के लिए क्लिक करें.

No comments:

Post a Comment