Wednesday, August 31, 2011

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन में चाहे गए अभिलेख (records)



आईएसओ ९००१:२००८ अंतर्राष्ट्रीय मानक के अनुसार गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन में चाहे गए अभिलेख (records) कौन-कौन से हैं?

आईएसओ ९००१:२००८ अंतर्राष्ट्रीय मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन में चाहे गए अभिलेख (records) निम्न से सम्बंधित हैं -

- प्रबंधन पुनरीक्षण - पैरा ५.६

- शिक्षा, प्रशिक्षण, कौशल और अनुभव के समुचित अभिलेख - पैरा ६.२.२

- यह साक्ष्य देने के लिए कि उपलब्धि प्रक्रियाएं और परिणामित उत्पाद (realization processes and resulting product) अपेक्षाओं को पूरा करते हैं - पैरा ७.१

- पुनरीक्षण के परिणामों और पुनरीक्षण से उत्पन्न होने वाली कार्यविधिओं के अभिलेख - पैरा ७.२.२

- परिरूप और विकास निवेश - पैरा ७.३.२

- परिरूप और विकास पुनरीक्षण - पैरा ७.३.४

- परिरूप और विकास सत्यापन - पैरा ७.३.५

- परिरूप और विकास वैधीकरण - पैरा ७.३.६

- परिरूप और विकास परिवर्तनों पर नियंत्रण - पैरा ७.३.७

- खरीद प्रक्रिया - पैरा ७.४.१

- उत्पादन और सेवा व्यवस्था के लिए प्रक्रियाओं का वैधीकरण - पैरा ७.५.२

- पहचान और खोजनीयता - पैरा ७.५.३

- ग्राहक सम्पति - पैरा ७.५.४

- निगरानी (मानिटरिंग) और मापन उपकरण का नियंत्रण - पैरा ७.६

- आतंरिक संपरीक्षण - पैरा ८.२.२

- उत्पाद की निगरानी (मानिटरिंग) और मापन - पैरा ८.२.४

- प्रतिकूल उत्पाद पर नियंत्रण - पैरा ८.३

- दुरुस्ती कार्रवाई - पैरा ८.५.२

- निवारक कार्रवाई - पैरा ८.५.३



उपर्युक्त अभिलेखों के अलावा ऐसे अभिलेख भी संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में होने चाहिए जो प्रक्रियाओं की प्रभावी आयोजना, संचालन, निरीक्षण के लिए जो संस्था निर्धारित करे.


इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....
कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.


Tuesday, August 30, 2011

गुणवत्ता नियमावली



आईएसओ ९००१:२००८ अंतर्राष्ट्रीय मानक के अनुसार गुणवत्ता नियमावली में क्या शामिल किया जाना चाहिए?

आईएसओ ९००१:२००८ अंतर्राष्ट्रीय मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार संस्था को एक गुणवत्ता नियमावली संस्थापित और संपोषित करना जरुरी है. गुणवत्ता नियमावली में निम्न शामिल किये जाने चाहिए -
- किसी वर्जन (अर्थात छूट, exclusion) के विवरण
- वर्जन/वर्जनों के औचित्य के विवरण
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली का कार्यक्षेत्र
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए संस्थापित प्रलेखित कार्यविधियाँ (documented procedures) अथवा उनका सन्दर्भ
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की प्रक्रियाओं के बीच परस्पर प्रभाव (अन्तर्सम्बन्ध) का विवरण

आईएसओ ९००१:२००८ अंतर्राष्ट्रीय मानक का संदर्भित पैरा - ४.२.२


इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Monday, August 29, 2011

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन - रूप और माध्यम



गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन किस रूप और माध्यम में हो सकते हैं?

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन किसी भी रूप और माध्यम के प्रकार में हो सकते हैं. इसका अर्थ यह है कि :
- प्रलेखन किसी भी भाषा में लिखे जा सकते हैं,
- प्रलेखन किसी भी रूप में (अर्थात इलैक्ट्रोनिक या कागज़ पर लिखें) हो सकते हैं.

कृपया इस सम्बन्ध में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक आईएसओ ९००१:२००८ के पैरा ४.२.१ के अंत में दी गई टिप्पणी संख्या ३ देखें.
इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. धन्यवाद.

Sunday, August 28, 2011

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा


गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा


क्या किसी संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा अर्थात विस्तार (मात्रा) दूसरी संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा अर्थात विस्तार (मात्रा) से भिन्न हो सकता है और क्यों?


एक संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा अर्थात विस्तार (मात्रा) दूसरी संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा अर्थात विस्तार (मात्रा) से भिन्न हो सकता है, जिसके निम्न (एक या अधिक) कारण हो सकते हैं :-

- संस्था का आकार,

- संस्था के क्रियाकलापों का प्रकार,

- संस्था की प्रक्रियाओं की जटिलता और उनके बीच अन्तर्सम्बन्ध,

- संस्था के कार्मिकों की सक्षमता


इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.


आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. धन्यवाद .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. धन्यवाद.


Friday, August 26, 2011

प्रलेखित कार्यविधि अपेक्षा (अपेक्षाएं) और दस्तावेज



इस विषय में दो प्रश्न महत्वपूर्ण हैं, जिनके बारे में जानना जरुरी है.
पहला, क्या एकल दस्तावेज (document) में आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक अपेक्षाओं के लिए एक या अधिक कार्यविधियाँ (procedures) संबोधित की जा सकती हैं?
दूसरा, क्या एक प्रलेखित कार्यविधि के लिए किसी एक अपेक्षा को एक से अधिक दस्तावेजों (documents) में शामिल किया जा सकता है?

आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा ४.२.१ के अंत में वर्णित पहली टिप्पणी में इन दोनों प्रश्नों का उत्तर स्पष्ट है.

दोनों प्रश्नों के उत्तर सकारात्मक हैं. एकल दस्तावेज में आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक अपेक्षाओं के लिए एक या अधिक कार्यविधियाँ संबोधित की जा सकती हैं. एक प्रलेखित कार्यविधि के लिए किसी एक अपेक्षा को एक से अधिक दस्तावेजों (documents) में शामिल किया जा सकता है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.


आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. धन्यवाद ....

Wednesday, August 24, 2011

एक अपील



आदरणीय बन्धु,

सादर अभिवादन!

मैंने यह ब्लॉग 'आईएसओ 9001 : 2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से प्रारम्भ किया. जागरूकता पैदा करने के लिए यह एक शुरुआत है. 'आईएसओ 9001 : 2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर बहुत सामग्री (अर्थात लेख और प्रकाशन) अंग्रेजी भाषा में बहुतायत से उपलब्ध हैं, पर अपनों के बीच अपनी भाषा में बात करने से जागरूकता पैदा करने और जागरूकता बढ़ाने का काम तेजी से किया जा सकता है.

मैं आपसे निवेदन करता हूँ कि आप इस ब्लॉग के जानकारी अपने मित्रों, अधिक से अधिक साथियों व संस्थाओं को दें, ताकि 'आईएसओ 9001 : 2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढ़ाने के मेरे इस प्रयास को अधिक गति और मुझे उत्साह मिल सके. आप अपने 'फेसबुक'(Facebook), ब्लॉग (Blog), 'लिंक्डइन'(Linkedin) आदि द्वारा इस ब्लॉग की जानकारी लोगों के बीच साझा कर सकते हैं.

मैं 'आईएसओ 9001 : 2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' और 'अन्य प्रबंध प्रणाली' के सलाहकारों (consultants) और संपरीक्षकों (auditors), प्रमाणीकरण संस्थाओं (certification bodies) के अधिकारियों और विभिन्न संस्थाओं में कार्यरत गुणवत्ता प्रबंधन से जुड़े कार्मिकों से अपील करता हूँ कि वे मेरे इस अभियान में अपना सहयोग और मार्गदर्शन दें. आप इस ब्लॉग पर यदि किसी लघु-लेख को पढ़ते हैं, तो कृपया अपनी टिप्पणी अवश्य लिखें.

'आईएसओ 9001 : 2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बन्धित कोई भी प्रश्न और विचार आप मुझे पत्र द्वारा भेज सकते हैं.

अभिवादन सहित,

केशव राम सिंघल
११७, जीवन विहार कॉलोनी,
आनासागर सर्कुलर रोड, अजमेर - ३०४००५, राजस्थान, भारत.
ईमेल - krsinghal@rediffmail.com
keshavsinghalajmer@gmail.com

प्रलेखित कार्यविधि



अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के अनुसार 'प्रलेखित कार्यविधि' का अर्थ क्या है?

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के अनुसार 'प्रलेखित कार्यविधि' का अर्थ है कि कार्यविधि संस्थापित, प्रलेखित, कार्यान्वित और संपोषित की गयी है.

जहाँ भी 'प्रलेखित कार्यविधि' (documented procedure) पद अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में दिखता है, इसका अर्थ है कि -
- कार्यविधि (procedure) संस्थापित है,
- कार्यविधि (procedure) प्रलेखित है अर्थात कार्यविधि लिखित-रूप में है ,
- कार्यविधि (procedure) कार्यान्वित है अर्थात कार्यविधि की अनुपालना होती है, और
- कार्यविधि (procedure) संपोषित है अर्थात कार्यविधि बनाए रखी गयी है.


इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. धन्यवाद ....

किसी अपेक्षा के लिए छूट



क्या अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा ४.१ में वर्णित किसी अपेक्षा के लिए छूट प्रदान की जा सकती है?

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा ४.१ में वर्णित किसी अपेक्षा के लिए कोई छूट प्रदान नहीं की जा सकती है.

यहाँ यह उल्लेखनीय है कि अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक की कोई अपेक्षा/अपेक्षाएं संस्था की प्रकृति के कारण लागू न की जा सकें तो वहाँ ऐसी अपेक्षा/अपेक्षाओं के वर्जन (छोड़ने) के लिए विचार किया जा सकता है. जहाँ अपेक्षाओं का वर्जन किया जाता है, वहाँ मानक की प्रति अनुरूपता का दावा तभी तक स्वीकार्य है जब यह वर्जन (छूट) मानक के पैरा ७ की अपेक्षाओं के अंतर्गत ही हो. इसका अर्थ यह है कि मानक में वर्णित केवल पैरा ७ के अंतर्गत दी गई अपेक्षाओं के लिए छूट प्रदान की जा सकती है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. धन्यवाद ....

Tuesday, August 23, 2011

प्रलेखित कार्यविधियों के अतिरिक्त अन्य कोई कार्यविधि या दस्तावेज


अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के अनुसार क्या गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन में चाही गई छ: प्रलेखित कार्यविधियों के अतिरिक्त अन्य कोई कार्यविधि या दस्तावेज हो सकते हैं?

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में चाही गई प्रलेखित छ: कार्यविधियों के अलावा ऐसी अन्य प्रलेखित कार्यविधियाँ भी हो सकती हैं जो प्रक्रियाओं की प्रभावी आयोजना, संचालन और नियंत्रण के लिए संस्था द्वारा निर्धारित की जाए.


इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. धन्यवाद ....


गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में चाही गई प्रलेखित कार्यविधियाँ


अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में चाही गई प्रलेखित कार्यविधियाँ (documented procedures) कौन सी हैं?

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में छ: चाही गई प्रलेखित कार्यविधियाँ (documented procedures) हैं, जो निम्न हैं :
- दस्तावेजों पर नियंत्रण (Control of documents) - पैरा ४.२.३
- अभिलेखों पर नियंत्रण (Control of records) - पैरा ४.२.४
- आंतरिक संपरीक्षण (Internal audit) - पैरा ८.२.२
- प्रतिकूल उत्पाद पर नियंत्रण (Control of nonconforming product) - पैरा ८.३
- दुरुस्ती कार्रवाई (Corrective action) - पैरा ८.५.२
- निवारक कार्रवाई (Preventive action) - पैरा ८.५.३

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित ' आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. धन्यवाद ....


गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन (QMS documentation)


अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन (QMS documentation) में क्या शामिल किया जाना जरुरी है?
अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा ४.२.१ में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन (QMS documentation) में निम्न प्रलेखन शामिल किये जाने जरुरी हैं :-
- गुणवत्ता नीति का प्रलेखित वक्तव्य (Quality policy)
- गुणवत्ता लक्ष्यों का प्रलेखित वक्तव्य (Quality objectives)
- गुणवत्ता नियमावली (Quality manual)
- मानक द्वारा चाही गई प्रलेखित छ: कार्यविधियाँ
- मानक द्वारा चाहे गए अभिलेख (records)
- संस्था प्रक्रियाओं की प्रभावी आयोजना, संचालन और नियंत्रण सुनिश्चित करने के लिए संस्था द्वारा तय किये गए आवश्यक दस्तावेज (documents ) और आवश्यक अभिलेख (records)

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित ' आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में अनुप्रयोग (application) के बारे में क्या प्रावधान हैं?



अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा १.२ में अनुप्रयोग (application) के बारे में चर्चा की गई है. इसके अनुसार मानक की सभी अपेक्षाएं सामान्य (generic) हैं तथा सभी प्रकार की संस्थाओं पर लागू की जा सकती हैं, चाहे वे किसी भी प्रकार, आकार की हों और कोई भी उत्पाद उपलब्ध कराती हों. जहाँ अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक की कोई अपेक्षा/अपेक्षाएं संस्था की प्रकृति के कारण लागू न की जा सकें तो वहाँ ऐसी अपेक्षा/अपेक्षाओं के वर्जन (छोड़ने) के लिए विचार किया जा सकता है. जहाँ अपेक्षाओं का वर्जन किया जाता है, वहाँ मानक की प्रति अनुरूपता का दावा तभी तक स्वीकार्य है जब यह वर्जन (छूट) मानक के पैरा ७ की अपेक्षाओं के अंतर्गत ही हो. इसका अर्थ यह है कि मानक में वर्णित केवल पैरा ७ के अंतर्गत दी गई अपेक्षाओं के लिए छूट प्रदान की जा सकती है. मानक में यह भी स्पष्ट किया गया है कि यह भी जरुरी है कि छोड़ी गई अपेक्षाएं संस्था की क्षमता या उत्तरदायित्व को प्रभावित करने वाली न हों अर्थात छूट प्रदान की गई अपेक्षाओं के बाद भी संस्था ऐसा उत्पाद प्रदान करे जो ग्राहक और लागू वैधानिक अपेक्षाओं को पूरा करे.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित ' आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

Monday, August 15, 2011

'बाह्य स्रोत प्रक्रिया' पर लगाए जाने वाले नियंत्रण के प्रकार और नियंत्रण के फैलाव (सीमा) पर किन तत्वों का प्रभाव पड़ सकता है ?



आईएसओ ९००१:२००८ मानक के पैरा ४.१ के अंत में अंकित तीसरी टिप्पणी में बताया गया है कि 'बाह्य स्रोत प्रक्रिया' पर लगाए जाने वाले नियंत्रण के प्रकार और नियंत्रण के फैलाव (सीमा) पर अनेक तत्वों का प्रभाव पड़ सकता है, जैसे :

- उत्पाद, जो अपेक्षाएं पूरी करता हो, प्रदान करने की संस्था की क्षमता पर बाह्य स्रोत प्रक्रिया का संभावित प्रभाव,
- प्रक्रिया के नियंत्रण को जिस हद तक साझा किया जाता है,
- आईएसओ ९००१:२००८ मानक के पैरा ७.४ के उपयोग द्वारा आवश्यक नियंत्रण प्राप्त करने की क्षमता. (मानक का पैरा ७.४ 'खरीद' से सम्बंधित है.)

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....


अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ के अनुसार गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सामान्य अपेक्षाएं क्या हैं?



गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सामान्य अपेक्षाएं अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ के पैरा ४.१ में वर्णित हैं. मानक के इस पैरा के अनुसार संस्था को निम्न सुनिश्चित करना जरुरी है :-
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली को संस्थापित करना,
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली को प्रलेखित करना,
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली को कार्यान्वित करना,
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली को संपोषित करना,
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के प्रभावीकरण का लगातार सुधार करना,
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए आवश्यक क्रियाओं को तय करना,
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए सर्वत्र तय की गई प्रक्रियाओं का अनुप्रयोग, तय की गई प्रक्रियाओं के अनुक्रम और अन्योन्यक्रिया को निर्धारित (तय) करना,
- यह सुनिश्चित करने के लिए कि संस्था में प्रक्रियाओं का संचालन और नियंत्रण दोनों प्रभावी हैं, आवश्यक मापदंड और क्रम-विधियाँ तय करना,
- तय की गई प्रक्रियाओं के संचालन और निगरानी (मॉनिटरिंग) को सहारा देने के लिए आवश्यक संसाधनों और सूचना की प्राप्यता सुनिश्चित करना,
- तय की गई प्रक्रियाओं की निगरानी (मॉनिटरिंग) करना, जहाँ उचित हो मापन करना और विश्लेषण करना,
- सुनियोजित परिणामों को प्राप्त करने और तय की गई प्रक्रियाओं में लगातार सुधार के लिए आवश्यक कार्रवाई कार्यान्वित करना.

मानक के इस पैरा में 'अनुप्रयोग' के लिए मानक के पैरा १.२ का सन्दर्भ देखना वर्णित है.

संस्था द्वारा तय की गई प्रक्रियाओं का प्रबंधन आईएसओ ९००१:२००८ मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार किया जाना जरुरी है. जहाँ संस्था किसी प्रक्रिया के लिए बाह्य स्रोत चुनती है, जो अपेक्षाओं के अनुसार उत्पाद अनुरूपता को प्रभावित करती है तो आईएसओ ९००१:२००८ मानक की अपेक्षाओं के अनुसार संस्था को ऐसी प्रक्रियाओं पर नियंत्रण सुनिश्चित करना आवश्यक है. साथ ही संस्था को ऐसी बाह्य स्रोत प्रक्रियाओं पर गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के अंतर्गत लगने वाले नियंत्रण के प्रकार और नियंत्रण के फैलाव (सीमा) को परिभाषित करना आवश्यक है.

आईएसओ ९००१:२००८ मानक के पैरा ४.१ के अंत में तीन टिप्पणियाँ वर्णित हैं.

पहली टिप्पणी में यह स्पष्ट किया गया है कि गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए पैरा ४.१ में वर्णित आवश्यक प्रक्रियाओं में प्रबंधन क्रियाकलाप, संसाधनों की व्यवस्था, उत्पाद उपलब्धि, और मापन, विश्लेषण और सुधार के लिए प्रक्रियाएं शामिल हैं.

दूसरी टिप्पणी में 'बाह्य स्रोत प्रक्रिया' को परिभाषित किया गया है कि 'बाह्य स्रोत प्रक्रिया' वह प्रक्रिया है जो संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए संस्था के लिए जरुरी है और जिसे संस्था किसी बाहरी दल द्वारा पूरा करने के लिए चुनती है.

तीसरी टिप्पणी में यह स्पष्ट किया गया है कि बाह्य स्रोत प्रक्रियाओं पर लगाए जाने वाले नियंत्रण सुनिश्चित करने पर संस्था सभी ग्राहक, वैधानिक और नियामक अपेक्षाओं के अनुपालन के उत्तरदायित्व से मुक्त नहीं होती है. इसका अर्थ यह है कि बाह्य स्रोत प्रक्रियाओं पर नियंत्रण के साथ सभी ग्राहक अपेक्षाओं और वैधानिक व नियामक अपेक्षाओं की अनुपालना का उत्तरदायित्व भी संस्था का ही है. इसी टिप्पणी में यह बताया गया है कि 'बाह्य स्रोत प्रक्रिया' पर नियंत्रण के प्रकार और नियंत्रण के फैलाव (सीमा) पर अनेक तत्वों का प्रभाव पड़ सकता है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित ' आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html



हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

Friday, August 5, 2011

संस्था में 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जानकारी' कार्यक्रम क्यों जरुरी है और इसकी अवधि कितनी होनी चाहिए?



'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' के लिए व्यक्तियों की भागीदारी अत्यन्त आवश्यक है अत: संस्था के कर्मचारियों को 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' की जानकारी, प्रणाली के लाभ, क्रियान्वयन में उनकी भूमिका और उत्तरदायित्व आदि की जानकारी के लिए 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जानकारी (प्रबोधन)' कार्यक्रम आयोजित करने चाहिए. इस प्रकार के कार्यक्रम में संस्था के सभी कर्मचारियों को भाग लेना चाहिए. इस तरह के कार्यक्रम की अवधि के सम्बन्ध में संस्था उचित निर्णय ले सकती है. सामान्यत: इस तरह के कार्यक्रम की अवधि चार से छ: घंटों के बीच की हो सकती है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....