Wednesday, June 29, 2011

आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक अपना लेने और इसे लागु करने के क्या लाभ हैं?



किसी संस्था द्वारा आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक अपना लेने और इसे लागू करने के अनेक लाभ होते हैं. कुछेक लाभ निम्न हैं:
ग्राहक ध्यान केन्द्रित (Customer focus) - आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक अपनाने और इसे लागू करने से संस्थाग्राहक की ओर अभिमुख हो ग्राहक आवश्यकताओं की पूर्ति कर ग्राहक संतोष में उन्नयन करती है.

विपणन लाभ - आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रमाणित संस्थाएं सामान्यत: सभी प्रकार के ग्राहकों को स्वीकार हैं, जिससे उत्पाद और सेवा दोनों का विपणन राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में सुधारने में मदद मिलती है.

एक विशेष पहचान - आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रमाणन से संस्था को एक विशेष पहचान मिलती है, जिससे क्रेता बोध का स्टार ऊँचा उठता है और कर्मचारिओं में गर्व का भाव विकसित होता है.

विश्वास उदय - आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली लागू करने से संस्था में प्रबंधन का आत्म-विश्वास बढ़ता है और ग्राहकों में भी संस्था की योग्यता और क्षमता के प्रति विश्वास जागृत होता है. इससे कर्मचारिओं का मनोबल ऊँचा उठता है.

गुणवत्ता बनाए रखने में मदद - आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली अपनाने से उत्पाद और सेवा की गुणवत्ता बनाए रखने में मदद मिलती है. उत्पाद और सेवा में कोई भी प्रतिकूलता या विसंगति जल्द पता चलती है और समुचित सुधार कार्रवाई करने के लिए संस्था द्वारा उचित कदम उठाये जा सकते हैं.

कानूनी विवादों में कमी - अनेक देशों में आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली को कानूनी मान्यता मिली हुयी है. संस्था में आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली अपनाने से समरूप उत्पाद की सुपुर्दगी सुनिश्चित होती है, जिससे उत्पाद-देयता (product liability) के कानूनी विवाद कम होते हैं.

उत्पादकता सुधार - आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली अपनाने से प्रबंधन उत्तरदायित्व, संसाधन प्रबंधन व उत्पाद उपलब्धि का कुशल प्रबंधन कर संस्था की उत्पादकता में सुधार का प्रतिफल मिलता है.

वित्तीय निष्पादन सुधार - आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली अपनाने से उत्पादों की लागत कम करने और उत्पादकता सुधार करने में संस्था को सहायता मिलती है, जिसके फलस्वरूप संस्था के वित्तीय-निष्पादन में सुधार होता है और परिणामत: निविष के अच्छे फल प्राप्त होते हैं.

अस्वीकृतियों में कमी - आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली लागू करने से आयातकर्ताओं और खरीददारों द्वारा उत्पादों को अस्वीकार करने के अवसर कम हो जाते हैं, इससे संस्था की लागत घटती है और संस्था को तात्कालिक लाभ मिलने के अवसर बढ़ते हैं.

पारदर्शिता - आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली अपनाने से संस्था का सर्वोच्च प्रबंधन करमचारिओं के उत्तरदायित्वों को परिभाषित करता है, जिससे काम करने में पारदर्शिता आती है और आतंरिक विवाद के अवसर कम होते हैं.

अनुमार्गनीयता (traceability ) - आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली अपनाने से जहाँ अनुमार्गनीयता ग्राहक या संस्था की अपेक्षा है, वहां कच्चा माल प्राप्त करने से लेकर उत्पाद-उपलब्धि प्रक्रिया के दौरान प्रत्येक स्तर पर ग्राहक को उत्पाद सुपुर्दगी दिए जाने तक उत्पाद की अनुमार्गनीयता का पता किया जा सकता है.

प्रलेखन - आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली उत्पाद - उपलब्धि, संसाधन प्रबंधन, प्रबंधन उत्तरदायित्व आदि गतिविधियों और प्रणाली संचालन से सम्बंधित प्रलेखन सुनिश्चित करती है. प्रलेखन से उत्पाद और सेवाओं की जानकारी, पुनरीक्षण और सुधार करने में सहायता मिलती है. साथ ही संस्था में एक प्रभावी गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली सुनिश्चित होती है.

मानव संसाधन विकास - आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली अपनाने से संस्था के कर्मचारियों का नियमित प्रशिक्षण और विकास सुनिश्चित होता है, जिससे संस्था के मानव संसाधन विकास के साथ समग्र सांस्कृतिक विकास में मदद मिलती है.

प्रबोधन (मोनिटरिंग) - आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली अपनाने से संस्था को अपनी तमाम गतिविधियों पर नियमित रूप से मोनिटरिंग करने और चौकसी रखने में मदद मिलती है. इसी के साथ समस्याओं को जान्ने और समय रहते उन्हें सुधारने में मदद मिलती है.

निर्यात संभावना के अवसरों में बढ़ोतरी - अनेक देशों की व्यापार संस्थाएं आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रमाणित प्रदातों के साथ व्यापार करना पसंद करती हैं. बहुत से देश निर्यातकों के लिए आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली का प्रमाणन लेना अनिवार्य कर रहे हैं. इस कारण आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रमाणित संस्थाओं के लिए निर्यात संभावना में बढोतरी के अच्छे अवसर बनते हैं.



नवाचार और लगातार सुधार - ग्राहकों की तेजी से बदती आवश्यकताओं को पूरा करने और बाज़ार में नेतृत्व बनाए रखने के लिए आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक नवाचार में लगातार सुधार के लिए सहायक है.


इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग .....

No comments:

Post a Comment